Online Portal | Download Mobile App | English Version | View Blog +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

H9N2 वायरस

समाचार में क्यों?

हाल ही में देश में इन्फ्लूएंज़ा वायरस A के एक दुर्लभ उप-प्रकार H9N2 वायरस का पहला मामला सामने आया , जो एवियन इन्फ्लूएंजा (Avian Influenza) या बर्ड फ्लू (Bird Flu) रोग का कारण बनता है।

प्रमुख बिंदु:

  • दिसंबर 2019 में संयुक्त राज्य अमेरिका के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (Centers for Disease Control and Prevention-CDC) तथा भारत के राष्ट्रीय विषाणु विज्ञान संस्थान (National Institute of Virology-NIV) के वैज्ञानिकों ने इमर्जिंग इन्फेक्शस डिसीज़ जर्नल (Emerging Infectious Diseases journal) में इस वायरस के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
  • भारत में H9N2 इन्फ्लूएंज़ा वायरस का पहला मामला महाराष्ट्र में देखा गया है।

H9N2 वायरस :

  • H9N2 वायरस, इन्फ्लूएंज़ा वायरस A का एक उप-प्रकार है, जो ह्यूमन इन्फ्लूएंजा के साथ-साथ बर्ड फ्लू का भी कारण है।
  • संयुक्त राज्य अमेरिका के नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इनफार्मेशन (National Centre for Biotechnology Information-NCBI) के अनुसार H9N2 वायरस जंगली पक्षियों में विशेष रूप से पाए जाते है।
  • NCBI के शोधकर्त्ता टी.पी. पीकॉक की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, H9N2 वायरस संभावित रूप से इन्फ्लूएंज़ा के विश्वव्यापी उद्भव में प्रमुख भूमिका निभा सकता है।
  • विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, एवियन इन्फ्लूएंज़ा वायरस पोल्ट्री फर्मों में तेज़ी से फैल रहा है , संक्रमित पोल्ट्री या दूषित वातावरण के संपर्क में आने के कारण इससे मानव समूहों के लिये भी जोखिम उत्त्पन्न हो गया है।
  • मनुष्यों में H9N2 वायरस का संक्रमण दुर्लभ हैं, हालाँकि संक्रमण के अस्पष्ट लक्षणों के कारण इसके मामले प्रकाश में नहीं आ पाते हैं।
  • मनुष्यों में, H9N2 वायरस के संक्रमण का पहला मामला वर्ष 1998 में हॉन्गकॉन्ग में सामने आया।
  • वर्ष 1966 में H9N2 वायरस का पहला मामला संयुक्त राज्य अमेरिका के विस्कोंसिन में प्रवासी पक्षियों के झुंड टर्की फ्लोक्स (Turkey Flocks) में देखा गया।
  • विगत कुछ वर्षो में H9N2 वायरस के कारण मनुष्यों में संक्रमण फैलने के मामले हॉन्गकॉन्ग के अतिरिक्त चीन, बांग्लादेश, पाकिस्तान तथा मिस्र में भी देखे गए है।
  • म्याँमार में वर्ष 2014 से 2016 के दौरान पोल्ट्री फर्मों में किये गए सर्विलांस द्वारा H9N2 वायरस के संक्रमण के मामले सामने आए।
  • इस वायरस के सामान्य लक्षणों में बुखार, खांसी तथा श्वसन क्रिया में बाधा जैसी समस्याएँ उत्त्पन्न होती हैं।
  • भारत में यह वायरस फरवरी 2019 में महाराष्ट्र के मेलघाट ज़िले के कोरकू जनजाति के 93 गाँवों में समुदाय आधारित निगरानी अध्ययन के दौरान देखा गया था।

वायरस (VIRUS)

‘विषाणु’ एक सूक्ष्मजीव है, जो जीवित कोशिकाओं के भीतर ही अपना विकास एवं प्रजनन करता है।

‘विषाणु’ स्वयं को जीवित रखने एवं अपनी प्रतिकृति तैयार करने हेतु जीवित कोशिकाओं पर आक्रमण करते हैं।

वर्ष 1892 में दमित्री इवानोवास्की (Dmitri Ivanovsky) ने विषाणु की खोज की।

वायरस के प्रकार:

  • ये मुख्य रूप से दो प्रकार के होते हैं– DNA वायरस व RNA वायरस
  • वायरस के वर्गीकरण में ‘इन्फ्लूएंजा वायरस RNA प्रकार के वायरस होते हैं तथा ये ‘ऑर्थोमिक्सोविरिदे (Orthomyxoviridae) वर्ग से संबंधित होते हैं। इन्फ्लूएंजा वायरस के तीन वर्ग निम्नलिखित हैं:-
  1. इन्फ्लूएंज़ा वायरस A: यह एक संक्रामक वायरस है। ‘जंगली जलीय पशु-पक्षी’ इसके प्राकृतिक वाहक होते हैं। मनुष्यों में संचारित होने पर यह काफी घातक सिद्ध हो सकता है।
  2. इन्फ्लूएंज़ा वायरस B: यह विशेष रूप से मनुष्यों को प्रभावित करता है तथा इन्फ्लुएन्ज़ा-A से कम सामान्य तथा कम घातक होता है।
  3. इन्फ्लूएंज़ा वायरस C: यह सामान्यतः मनुष्यों, कुत्तों एवं सूअरों को प्रभावित करता है। यह इन्फ्लूएंजा के अन्य प्रकारों से कम घातक होता है तथा आमतौर पर केवल बच्चों में सामान्य रोग का कारण बनता है।

प्रीलिम्स के लिए तथ्य

भारत राष्ट्रीय युवा दिवस 2020 :

  • प्रत्येक वर्ष 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद की जयंती के अवसर पर राष्ट्रीय युवा दिवस मनाया जाता है।

उद्देश्य:   इसका मुख्य उद्देश्य देश का भविष्य माने जाने वाले युवाओं में तर्कसंगत सोच को बढ़ावा देना है।

मुख्य बिंदु:

  • देश के प्रति स्वामी विवेकानंद के योगदान को देखते हुए भारत सरकार ने वर्ष 1984 में, इनके जन्मदिन को राष्ट्रीय युवा दिवस के रूप में घोषित किया था।
  • राष्ट्रीय युवा दिवस का पहली बार वर्ष 1985 में मनाया गया था।
  • अंतर्राष्ट्रीय युवा दिवस 12 अगस्त को मनाया जाता है।

23वाँ राष्ट्रीय युवा महोत्सव-2020 :

  • 23वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव 2020 का आयोजन केंद्रीय युवा कार्यक्रम और खेल मंत्रालय (Ministry of Youth Affairs and Sports) एवं उत्तर प्रदेश सरकार ने संयुक्त रूप लखनऊ में किया गया।
  • इसका उद्देश्य एक ऐसा क्षेत्र विकसित करना है जहाँ युवा अपनी सामाजिक और सांस्कृतिक विशिष्टता का आदान-प्रदान कर सकते हैं। जिससे विविध सामाजिक-सांस्कृतिक परिवेश का यह मिश्रण ‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’ (Ek Bharat Shreshtha Bharat) के उद्देश्य को साकार कर सके।
  • केंद्र सरकार वर्ष 1995 से राष्ट्रीय युवा महोत्सव का आयोजन कर रही है।
  • इस बार राष्ट्रीय युवा महोत्सव की थीम ‘फिट यूथ फिट इंडिया (FIT YOUTH FIT INDIA) है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow