Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

स्पेक्ट्रम नीलामी

G.S. Paper-III

संदर्भ

सरकार के लिए, स्पेक्ट्रम नीलामी के पहले दिन 77,146 करोड़ रुपये की बोली प्राप्त हुई है, जोकि अपेक्षित अनुमान से बेहतर थी। सरकार ने 45,000 करोड़ रुपये की बोली का अनुमान लगाया था।

पृष्ठभूमि:

कुल 3.92 लाख करोड़ रुपये मूल्य के स्पेक्ट्रम को नीलामी के लिए रखा गया है, जिसमे 700 मेगाहर्ट्ज, 800 मेगाहर्ट्ज, 900 मेगाहर्ट्ज, 1800 मेगाहर्ट्ज, 2100 मेगाहर्ट्ज, 2300 मेगाहर्ट्ज और 2500 मेगाहर्ट्ज के 7 फ्रीक्वेंसी बैंड में स्पेक्ट्रम की नीलामी जारी है।

‘स्पेक्ट्रम नीलामी’ क्या हैं?

  1. सेलफोन और तार की लाइन वाले टेलीफोन जैसे उपकरणों को परस्पर एक दूसरे से जुड़ने के लिए संकेतों (Signals) की आवश्यकता होती है। ये सिग्नल वायु-तरंगो (Airwaves) पर कार्य करते हैं तथा बाधा-रहित संचरण के लिए इन संकेतों को निर्दिष्ट आवृत्तियों पर भेजा जाता है।
  2. देश की भौगोलिक सीमाओं के भीतर सार्वजनिक रूप से उपलब्ध सभी परिसंपत्तियों पर केंद्र सरकार का स्वामित्व होता है, इसमें वायुतरंगे एयरवेव भी शामिल होती हैं।
  3. सेलफोन, वायरलाइन टेलीफोन और इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या में वृद्धि होने के साथ ही समय-समय पर इन संकेतों को अधिक स्थान दिए जाने की आवश्यकता होती है।
  4. इन संकेतो के प्रसारण हेतु अवसंरचना निर्माण करने की इच्छुक कंपनियों के लिए इन परिसंपत्तियों को बेचने हेतु केंद्र सरकार दूरसंचार विभाग (DoT) के माध्यम से समय-समय पर वायुतरंगों की नीलामी करती है।
  5. इन वायुतरंगों को स्पेक्ट्रम कहा जाता है। ये स्पेक्ट्रम अलग-अलग आवृत्तियों वाले बैंड्स में उप-विभाजित होते हैं।इन सभी वायुतरंगों को एक निश्चित अवधि के लिए बेचा जाता है। आम तौर पर यह अवधि 20 वर्ष निर्धारित की जाती है, तथा अवधि पूरी होने के बाद इनकी वैधता समाप्त हो जाती है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

क्रय प्रबंधक सूचकांक

(Purchasing Managers’ Index- PMI)

पीएमआई या क्रय प्रबंधक सूचकांक (Purchasing Managers’ Index- PMI), विनिर्माण और सेवा क्षेत्रों, दोनों में व्यावसायिक गतिविधियों का एक संकेतक है।

  1. यह एक सर्वेक्षण-आधारित प्रणाली है। इसमें उत्तरदाताओं से कुछ प्रमुख व्यावसायिक कारकों के प्रति पिछले महीने से उसकी धारणा में बदलाव के संबंध में सवाल पूछे जाते हैं।
  2. यह विनिर्माण और सेवा क्षेत्रों के लिए अलग-अलग गणना की जाती है और फिर एक समग्र सूचकांक का निर्माण किया जाता है।
  3. 50 से ऊपर का आँकड़ा व्यावसायिक गतिविधि में विस्तार को दर्शाता है, जबकि 50 से नीचे का आँकड़ा संकुचन (गिरावट) को प्रदर्शित करता है।
  4. मध्य-बिंदु से अधिक अंतर, अधिक विस्तार या संकुचन का संकेतक होता है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow