Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

सूर्य ग्रहण

संदर्भ:

  • 14 दिसंबर को होने वाला सूर्य ग्रहण वर्ष 2020 का अंतिमपूर्ण सूर्य ग्रहण (total solar eclipse) होगा।
  • यह सूर्य ग्रहण, चिली और अर्जेंटीना के अलावा, दक्षिण अमेरिका के दक्षिणी हिस्सों में, दक्षिण-पश्चिम अफ्रीका और अंटार्कटिका में आंशिक रूप से देखा जा सकेगा।

‘सूर्य ग्रहण’ क्या है?

यह पृथ्वी पर घटित होने वाली एक प्राकृतिक घटना है। सूर्यग्रहण की स्थिति में चंद्रमा की कक्षीय अवस्थिति, पृथ्वी और सूर्य के मध्य होती है।

  1. सूर्यग्रहण, अमावस्या के दिन घटित होता है, इस दिन सूर्य और चंद्रमा एक दूसरे के साथ युति (conjunction) अवस्था में होते हैं।
  2. ग्रहण के दौरान, चंद्रमा की छाया, जो कि दो भागों में विभाजित होती है- अदीप्‍त छाया (dark umbra) एवं हल्की प्रकाशित उपच्छाया (lighter penumbra), पृथ्वी की सतह को आच्छादित करती है।
  3. सूर्यग्रहण की स्थिति में, जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी पूर्णतयः संरेखित नहीं होते हैं, तो केवल आंशिक ग्रहण होता है। जब तीन खगोलीय पिंड एक सीधी रेखा में होते हैं, तो पूर्ण सूर्य ग्रहण का अवलोकन होता है।

फिर, हर महीने सूर्यग्रहण क्यों नहीं होता?

  • यदि चंद्रमा पृथ्वी के थोड़ा करीब होता तथा एक ही वृत्तीय कक्षा में पृथ्वी के परिक्रमा कर रहा होता, तब प्रत्येक माह सूर्यग्रहण की घटना देखी जा सकती है। परन्तु, चंद्रमा अण्डाकार कक्षा में तथा पृथ्वी की कक्षीय स्थिति में कुछ झुकी हुई स्थिति में गति करता है, अतः हम प्रति वर्ष केवल 5 ग्रहण देख सकते हैं।
  • सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी की ज्यामितीय स्थिति के अनुसार, सूर्य का प्रकाश पृथ्वी पर पूर्णतयः अथवा आंशिक रूप से अवरुद्ध हो सकता है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

ग्रीन चारकोल

  • हाल ही में, विद्युत्मंत्रालय द्वारा ग्रीन चारकोल हैकथौन का आयोजन किया गया. इसके उद्देश्य खेत में कृषि अवशेषों के दहन की प्रथा को समाप्त करके वायु को स्वच्छ बनाना, कृषि अवशेषों से नवीकरणीय ऊर्जा का उत्पादन करना आदि हैं.
  • ग्रीन चारकोल वस्तुतः एक प्रकार का जैव ईंधन है, जिसे स्थानीय और वहनीय रूप में बनाया जा सकता है.
  • इसे बनाने के लिए, मौसम और क्षेत्र के लिए अनुकूल कृषि अपशिष्ट पदार्थों को एक भट्ठी में कार्बनीकृत (एक जैविक पदार्थ को कार्बन या कार्बन युक्त अवशेषों में परिवर्तित करना) किया जाता है. इसका दहन स्वच्छ होता है और धुएं के जोखिम को कम करता है, जो श्वसनीय संक्रमण के लिए उत्तरदायी है.

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow