Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

वेस्ट बैंक एवं इससे संबंधित मुद्दे

G.S. Paper-II

संदर्भ:

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प के कार्यकाल समाप्त होने से पहले इजरायल ने वेस्ट बैंक में स्थित बस्तियों को अनुमोदित कर दिया है।

इस अनुमोदन को, व्यापक रूप से, ट्रम्प प्रशासन के अंतिम दिनों में उठाये जाने वाले लाभ के रूप में देखा जा रहा है।

‘वेस्ट बैंक’ (West Bank) की अवस्थिति:

यह पश्चिमी एशिया के भूमध्यसागरीय तट के पास एक स्थलरुद्ध क्षेत्र है। पूर्व में इसकी सीमा जॉर्डन से मिलती है तथा यह दक्षिण, पश्चिम और उत्तर में ग्रीनलाइनद्वारा इज़राइल से पृथक होता है। वेस्ट बैंक के अंतर्गत पश्चिमी मृत सागर तट का काफी हिस्सा भी आता है।

इस क्षेत्र की बस्तियाँ और विवाद:

  1. वर्ष 1948 के अरब-इजरायल युद्ध के पश्चात् वेस्ट बैंक पर जॉर्डन द्वारा कब्जा कर लिया गया था।
  2. इजरायल ने वर्ष 1967 के छह दिवसीय युद्ध के पश्चात इसे वापस छीन लिया, और तब से वेस्ट बैंक पर इसका अधिकार है। इस लड़ाई में इजराइल ने मिस्र, सीरिया और जॉर्डन की संयुक्त सेनाओं को हराया था ।
  3. इजराइल ने वेस्ट बैंक में लगभग 130  औपचारिक बस्तियों का निर्माण किया है, तथा पिछले 20-25 वर्षों के दौरान इस क्षेत्र में इसी तरह की कई छोटी, अनौपचारिक बस्तियां विकसित हो चुकी हैं।
  4. इस क्षेत्र में 4 लाख से अधिक इजरायल उपनिवेशी निवास करते है, उनमें से कई यहूदी धार्मिक लोग, इस भूमि पर बाइबिल के अनुसार अपने पैदाइशी हक़ का दावा करते हैं।
  5. इनके अतिरिक्त्त, इस क्षेत्र में 26 लाख फिलिस्तीनियों इस क्षेत्र में निवास करते है।
  6. जब 1967 में इज़राइल द्वारा इस भूमि पर कब्ज़ा किया गया था, तब इसने यहूदी लोगों को इस स्थान पर बसने की अनुमति दी। लेकिन फिलिस्तीनियों द्वारा ‘वेस्ट बैंक’ फ़िलिस्तीनी भूमि पर अवैध कब्जा माना जाता है।

इन बस्तियों की वैधानिक स्थिति:

  1. संयुक्त राष्ट्र महासभा, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के अनुसार वेस्ट बैंक में स्थित इजराइली बस्तियां, चतुर्थ जेनेवा अभिसमय (Fourth Geneva Convention)का उल्लंघन करती हैं।
  2. चौथे जिनेवा अभिसमय (1949) के अनुसार किसी क्षेत्र पर कब्ज़ा करने वाली शक्ति, अपनी नागरिक आबादी के किसी भी हिस्से को अधिकृत क्षेत्र में निर्वासित या स्थानांतरित नहीं करेगी ।
  3. 1998 में अंतर्राष्ट्रीय अपराध न्यायालय की स्थापना करने वाले रोम अधिनियम (Rome Statute) के अनुसार कब्ज़ा करने वाली शक्ति द्वारा इस तरह का कोई भी स्थानांतरण ‘युद्ध अपराध’ के समान होगा, जिसमे सैन्य बलों द्वारा अवैध और निर्दयतापूर्वक संपतियों का नुकसान व उन पर कब्ज़ा किया जाता है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

सेमरू ज्वालामुखी

  1. हाल ही में, ‘सेमरू ज्वालामुखी’ में प्रस्फोट हुआ है।
  2. यह इंडोनेशिया के पूर्वी जावा प्रांत में अवस्थित है।
  3. यह जावा का उच्चतम ज्वालामुखी है और सबसे सक्रिय ज्वालामुखियों में से एक है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow