Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

विश्व व्यापार प्रतिवेदन-2020

G.S. Paper-II

हाल ही में विश्व व्यापार संगठन (WTO) द्वारा वर्ष 2020 की विश्व व्यापार प्रतिवेदन (World Trade Report) निर्गत किया गया.

मुख्य बिन्दु-

  • विश्व व्यापार प्रतिवेदन एक वार्षिक प्रकाशन है, जिसका उद्देश्य व्यापार में आई प्रवृत्तियों, व्यापार नीति के मुद्दों और बह्दुपक्षीय व्यापार प्रणाली के बारे में समझ को सुदृढ़ करना है.
  • विश्व व्यापार प्रतिवेदन 2020 शीघ्रता से डिजिटल होती विश्व अर्थव्यवस्था में नवाचार एवं प्रौद्योगिकी नीतियों की भूमिका का पर्यवेक्षण करती है. साथ ही, इस परिवर्तित होते संदर्भ में विश्व व्यापार संगठन की भूमिका की व्याख्या करती है.

इस वर्ष के प्रतिवेदन की प्रमुख विशेषताएँ –

  • डिजिटल युग में, सरकारों द्वारा व्यापक रूप से नवायार एवं तकनीकी उन्‍नयन के माध्यम से विकास को बढ़ावा देने पर लक्षित नीतियां अपनाई जा रही हैं.
  • भारत में, ‘डिजिटल इंडिया” पहल का उद्देश्य डिजिटल बुनियादी ढांचे का विस्तार करना और नागरिकों को डिजिटल रूप से सशक्त बनाना है.
  • रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि डिजिटल अर्थव्यवस्था के प्रति संक्रमण का सकारात्मक और ऋणात्मक प्लवन (प्रसरणशील) प्रभाव हो सकता है.
  • सकारात्मक प्लवन प्रभाव (positive spillovers): संवृद्धि करना, नए बाजार निर्मित करना और प्रौद्योगिकी प्रसार को प्रोत्साहित करना.
  • ऋणात्मक प्लवन प्रभाव (negative spillovers): व्यापार को विकृत करना, निवेश का दिक्‌-परिवर्तन करना या कुछ डिजिटल उद्योगों के शीर्ष स्तर के प्रतिस्पर्धियों द्वारा सभी लाभ प्राप्त करने की संभावना के साथ अनुचित प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देना. ज्ञातव्य है की कोविड-19 महामारी के कारण डिजिटल प्लेटफॉर्म और प्रौद्योगिकियों की ओर स्थानांतरण की गति तीव्र होने की संभावना है.

अनुशंसाएँ-

यह रिपोर्ट प्रशुल्क, निवेश और कर प्रोत्साहनों पर अधिक केंद्रित पारंपरिक नीतियों की बजाय, नई नीतियों की अनुशंसा करती है, जैसे कि सहयोगात्मक अनुसंधान एवं विकास का समर्थन, संकुलन के माध्यम से ज्ञान का प्रसार, प्रौद्योगिकिय केंद्र, डेटा नीतियां आदि.

विश्व व्यापार संगठन (WTO)-

  • विश्व व्यापार संगठन का इतिहास 15 अप्रैल, 1994 से प्रारम्भ होता है जब मोरक्को के एक शहर “मराकेश” में चार दिवसीय वार्ता प्रारम्भ हुई थी. इस सम्मेलन की अध्यक्षता “प्रशुल्क एवं व्यापार पर सामान्य समझौता”, जिसे गैट/GATT” कहते हैं, के प्रथम महानिदेशक पीटर सदरलैंड ने की थी. वस्तुतः इसी सम्मलेन में “गैट” को नया नाम “विश्व व्यापार संगठन/Word Trade Organization/WTO” दिया गया. यह संगठनजनवरी, 1995 से अस्तित्व में आया. इसके प्रथम स्थायी अध्यक्ष इटली के एक प्रमुख व्यवसायी रेनटो रुगियरो (Renato Ruggiero) बनाए गये.
  • विश्व व्यापार संगठन (WTO) वास्तव में विश्व की भावी अर्थव्यवस्था को नियंत्रित एवं संचालित करने वाला एक दस्तावेज है, जो गैट के पुराने स्वरूप में संशोधन कर व्यापार का विस्तार कर रहा है.

विश्व व्यापार संगठन का उद्देश्य-

  • पीटर सदरलैंड ने अपने एक भाषण में कहा था कि विश्व व्यापार संगठन का उद्देश्य विश्व के देशों को व्यापार एवं तकनीकी क्षेत्रों में एक नई राह पर लाना है. World trade organization का मुख्य उद्देश्य विश्व में मुक्त, अधिक पारदर्शी तथा अधिक अनुमन्य व्यापार व्यवस्था को स्थापित करना है.
  • विश्व व्यापार संगठन ठोस कानूनी तंत्र पर आधारित है. इसके समझौतों की सदस्य देशों के सांसदों द्वारा पुष्टि की गई है. विश्व व्यापार संगठन पर किसी एक देश का अधिकार नहीं है. महत्त्वपूर्ण फैसले सदस्य देशों के निर्दिष्ट मंत्रियों द्वारा किये जाते हैं. ये मंत्री हर दो साल मेंकमसेकम एक बार जरुर मिलते हैं.
  • विश्व व्यापार संगठन (WTO) के पास विभिन्न देशों के व्यापारिक मतभेदों को सुलझाने की शक्ति प्राप्त है.

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

मिनी काजीरंगा

असम के पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य को ‘मिनी काजीरंगा’ के नाम से भी जाना जाता है।

इस अभ्यारण्य में एक सींग वाले गैंडों का घनत्व विश्व में सर्वाधिक है और इसमें, असम के काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान के बाद एक सींग वाले गैंडों की सर्वाधिक आबादी पायी जाती है।

चर्चा का कारण-

  1. ‘मिनी काजीरंगा’ वन्यजीवों की संख्या अधिक होने से गैडों के पोषण-आहार में कमी हो रही है।
  2. हाल ही में, दो गैंडों की मौत हो जाने से इसकी पुष्टि हुई है। पोषण-आहार के अभाव में इनके आंतरिक अंगों में काफी मात्रा में सूखे नरकट और अन्य जंगली ‘जंक फूड’ पाए गए थे

 

 

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow