Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (STI) नीति

G.S. Paper-III

संदर्भ:

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा 1 जनवरी को राष्ट्रीय विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (Science, Technology and Innovation- STI) नीति का मसौदा जारी किया गया।

यह नीति वैज्ञानिक अनुसंधान समुदाय के अलावा विज्ञान के संपर्क में रहने वाले आम भारतीयों के लिए भी महत्वपूर्ण साबित हो सकती है।

इस नीति का मूल दर्शन-

व्यापक रूप सूत्रीकरण पे आधारित पिछली विज्ञान, प्रौद्योगिकी और नवाचार (STI) नीतियों के विपरीत, 5वीं राष्ट्रीय विज्ञानप्रौद्योगिकी और नवाचार नीति (national STI policy- STIP) विकेन्द्रीकरण, प्रामाणिक साक्ष्य, विशेषज्ञों द्वारा संचालन और समग्रता के मूल सिद्धांतों पर आधारित हैं।

प्रमुख उद्देश्य:

  1. इस नीति का उद्देश्य आगामी दशको में भारत को शीर्ष तीन वैज्ञानिक महाशक्तियों में स्थान दिलाना है।
  2. ‘लोक केंद्रित’ विज्ञान, प्रौद्योगिकी के माध्यम से महत्वपूर्ण मानव पूंजी को आकर्षित करना, पोषित करना, मजबूत करना और बनाए रखना।
  3. प्रति 5 साल में, पूर्णकालिक शोधकर्ताओं की संख्या, अनुसंधान एवं विकास पर सकल घरेलू व्यय (gross domestic expenditure on R&D- GERD) और निजी क्षेत्र में योगदान को दोगुना करना।
  4. आने वाले दशक में वैश्विक पहचान और उच्चतम स्तर के पुरस्कार प्राप्त करने के उद्देश्य से STI में व्यक्तिगत और संस्थागत उत्कृष्टता का निर्माण करना।

प्रमुख घटक:

  1. इस नीति में, सार्वजनिक रूप से वित्त पोषित अनुसंधानों के निष्कर्षों तक सभी जो स्वतंत्र पहुंच प्रदान करने हेतु एकओपन साइंस फ्रेमवर्क का प्रस्ताव किया गया है।
  2. एक राष्ट्र, एक शुल्क’ (One Nation, One Subscription):विज्ञान को लोकतांत्रिक बानाने हेतु देश में प्रत्येक व्यक्ति के लिए ‘विद्वत्तापूर्ण ज्ञान’ तक पहुंच प्रदान करने हेतु इस विचार का प्रस्ताव किया गया है।
  3. इसमें राष्ट्रीय महत्व के बड़े मिशन मोड कार्यक्रमों और परियोजनाओं के लिए सामान्य वित्तीय नियमों (General Financial Rules– GFR) के संशोधन अथवा छूट का सुझाव दिया गया है।

इस नीति में की गयी अनुशंसाएं:

  1. शैक्षणिक संस्थानों में वंचित समूहों के लिए अनिवार्य पद तथा चयन / मूल्यांकन समितियों और निर्णय लेने वाले समूहों में महिलाओं का 30% प्रतिनिधित्व।
  2. करके महिलाओं के लिए करियर से संबंधित मुद्दों का समाधान करते समय जीवन-आयु के बजाय शैक्षणिक उम्र पर विचार करना।
  3. दंपतियों के लिए दोहरी भर्ती नीति; और समता और समावेशन का संस्थानीकरण करने हेतु समता एवं समावेशन कार्यालय की स्थापना करना, आदि।

कोविड-19 महामारी से भारत के विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र को क्या सीख मिली हैं?

  1. भारत में, महामारी ने अनुसंधान एवं विकास संस्थानों, शिक्षा और उद्योग के लिए बेहतर तालमेल और सहयोग के साथ काम करने का एक शानदार अवसर प्रदान किया है। इसने रिकॉर्ड समय में महामारी से बचाव में प्रयुक्त होने वाली किटों की उत्पादन-क्षमता विकसित करने में देश की मदद की है।
  2. STIP ड्राफ्ट में, भविष्य में अधिक दक्षता और तालमेल के लिए इस प्रकार की शिक्षा को अपनाने की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित किया गया है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

दीपोर बील

हाल ही में, जिला प्रशासन ने संकुचित होती दीपोर बील आर्द्र भूमि के अति दोहन को अवरुद्ध करने के लिए दीपोर बील में सामुदायिक मत्स्यन को प्रतिबंधित कर दिया है.

  1. दीपोर बील एक ताजे जल की झील है. इसे असम के निचले भाग की ब्रह्मपुत्र घाटी में बड़ी और महत्त्वपूर्ण नदी आर्द्रभूमियों में से एक माना जाता है.
  2. यह रामसर सूची में शामिलअसम का एकमात्र स्थल है.
  3. इसके अतिरिक्त, बर्ड लाइफ इंटरनेशनल द्वारा इसे महत्त्वपूर्ण पक्षी क्षेत्र स्थलों में से एक के रूप में भी चयनित किया गया है.
  4. यहाँ पाए जाने वाले जीव-जंतुओं में सम्मिलित हैं: साइबेरियन क्रेन (CR), लेसर एडजुटेंट स्टॉर्क पक्षी, एशियाई हाथी आदि.

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow