Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

विजय दिवस-2020

G.S. Paper-I

संदर्भ-

  • वर्ष 1971 के भारत-पाक युद्ध में पाकिस्तान पर भारतीय सशस्त्र बलों के विजय, जिसे बांग्लादेश मुक्ति संग्राम के नाम से भी जाना जाता है, की स्मृति में प्रत्येक वर्ष 16 दिसंबर को भारत में विजय दिवस मनाया जाता है.
  • भारत-पाकिस्तान युद्ध का प्रारम्भ 3 दिसंबर, 1971 को हुई और यह 16 दिसंबर, 1971 को समाप्त हुआ था. यह सबसे कम समय (13 दिनों) तक चलने वाली लड़ाईयों में से एक थी, परन्तु इसमें होने वाले आत्मसमर्पण को विश्व इतिहास के प्रमुख आत्मसमर्पणों में से एक माना जाता है.

बांग्लादेश के निर्माण में भारत की भूमिका-

13 दिवसीय भारत-पाक युद्ध की शुरुआत पूर्वी पाकिस्तान में इस्लामाबाद सरकार के खिलाफ विद्रोह छिड़ने के साथ हुई थी.

  • मार्च 1971 से पाकिस्तानी बलों द्वारा बंगाली आबादी के नागरिक और राजनीतिक अधिकारों पर क्रूर कार्रवाईयां की जा रही थीं, जिसका बंगाली राष्ट्रवादियों द्वारा मुकाबला किया जा रहा था.
  • तत्कालीन भारतीय प्रधान मंत्री इंदिरा गांधी द्वारा बांग्लादेश के निर्माण हेतु महीनों से समर्थन दिया जा रहा था, हालांकि, भारतीय सेना ने 3 दिसंबर को औपचारिक रूप से पाकिस्तान के साथ पूर्ण युद्ध छेड़ दिया.
  • जल्द ही, युद्ध समाप्त करने के विदेशी दबाव और नुकसान में होने वाली वृद्धि के कारण इस्लामाबाद को हार मानने पर विवश हो गया, जिसके परिणामस्वरूप बांग्लादेश को पूर्ण स्वतंत्रता प्राप्त हुई.

मुख्य परिणाम-

  1. पाकिस्तानी सेना का एकतरफा और बिना शर्त आत्मसमर्पण और बाद में पूर्वी पाकिस्तान का बांग्लादेश में विलय.
  2. द्वितीय विश्व युद्ध के बाद यह पहला युद्ध था जिसमें भारत द्वारा निर्णायक रूप से जीत दर्ज की गयी थी.

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

हिमालयन ट्रिलियम

  1. हाल ही में, हिमालय में पायी जाने वाली एक आम जड़ी बूटीहिमालयन ट्रिलियम को आईसीयूएन (IUCN) द्वारासंकटग्रस्त’ (endangered) घोषित किया गया है।
  2. यह जड़ी-बूटी मानवों के लिए विभिन्न रूपों में उपयोगी है, अतः इसका अत्याधिक दोहन किया जाता है।
  3. यह 2400 मीटर से 4000 मीटर की ऊँचाई पर हिमालय के समशीतोष्ण और उप-अल्पाइन क्षेत्र में उगती है।
  4. यह बूटी भारत, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, चीन, नेपाल, भूटान में पायी जाती है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow