Online Portal Download Mobile App हिंदी ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

रोहिंग्या शरणार्थिया

19 September-2019

समाचार में क्यों?

बांग्लादेश में रह रहे रोहिंग्या शरणार्थियों को अगस्त 2019 तक म्यांमार वापस भेज देने का लक्ष्य था। परन्तु यह लक्ष्य पूरा नहीं हो सका क्योंकि म्यांमार भेजने के लिए जिन बसों का प्रबंध हुआ उन पर इन शरणार्थियों ने बैठने से मना कर दिया।

रोहिंग्या कौन हैं?

  • रोहिंग्या म्यांमार के रखाइन प्रांत में रहने वाला एक समुदाय है जिसमें अधिकांश मुसलमान हैं।
  • उस देश में रोहिंग्याओं को पूर्ण नागरिकता प्राप्त नहीं है और उन्हें निवासी विदेशी अथवा सह-नागरिक के रूप में वर्गीकृत किया गया।
  • नस्ल की दृष्टि से ये म्यांमार में रहने वाले चीनी तिब्बती लोगों से अलग हैं और थोड़ा बहुत भारत के और बांग्लादेश के भारतीय आर्य जनों से मिलते-जुलते हैं।
  • इनकी भाषा और संस्कृति सभी देशों से बिल्कुल अलग है।
  • म्यांमार में 10 लाख से अधिक रोहिंग्या बसते हैं पर म्यांमार उन्हें अपना नागरिक मानने को तैयार नहीं हैI न ही इस प्रजाति को कोई सरकारी ID या चुनाव में भाग लेने का अधिकार दिया गया है।

रोहिंग्या संकट का इतिहास :

  • अधिकांश रोहिंग्या मुसलमान हैं लेकिन कुछ रोहिंग्या अन्य धर्मों का भी अनुसरण करते हैं। 2017 में रोहिंग्या समुदाय के लोगों के विरुद्ध म्यांमार में हिंसा हुई थी। इस हिंसा के बाद लाखों रोहिंग्या म्यांमार को छोड़ कर कहीं और चले गए। अब भी कई रोहिंग्या म्यांमार में ही रखाइन के राहत शिविरों में दिन काट रहे हैं।
  • रोहिंग्या समुदाय को सदियों पहले अराकान (म्यांमार) के मुगल शासकों ने यहाँ बसाया था, साल 1785 में, बर्मा के बौद्ध लोगों ने देश के दक्षिणी हिस्से अराकान पर कब्जा कर लिया था। उन्होंने हजारों की संख्या में रोहिंग्या मुसलमानों को खदेड़ कर बाहर भगाने की कोशिश की। इसी के बाद से बौद्ध धर्म के लोगों और इन मुसलमानों के बीच हिंसा और कत्लेआम का दौर शुरू हुआ जो अब तक जारी है।

 

क्या रोहिंग्या मुसलमान भारत के लिए खतरनाक हैं?

  • रोहिंग्या बड़ी संख्या में जम्मू के बाहरी भागों में और जम्मू के साम्बा और कठुआ इलाकों में बस गए हैंI ये इलाके हमारे अंतर्राष्ट्रीय सीमा से अधिक दूर नहीं है जो भारत की सुरक्षा के लिए एक खतरा है।
  • अता उल्लाह जो Arkan Rohingya Salvation Army का सरगना है, उसका जन्म कराँची, पाकिस्तान में हुआ था। इसकी परवरिश मक्का में हुई।
  • ऐसा कहा जाता है कि रोहिंग्या मुसलमान पाकिस्तान के आतंकवाद संगठनों के साथ जुड़े हुए हैं और लगातार उनसे संपर्क में रहते हैं। सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन द्वारा रोहिंग्या, जो बांग्लादेश के शरणार्थी कैंपों में रह रहे हैं, को आंतकवादी बनाया जा रहा है और पूरे देश की अशांति फैलाने के लिए इनका इस्तेमाल भी किया जा रहा है। सऊदी अरबिया का वहाबी ग्रुप इन्हें आंतकवाद की ट्रेनिंग दे रहा है।

 

*************

 

 


प्रीलिम्स के लिए तथ्य:

भारत के सबसे पूर्वी गाँव में हवाई पट्टी:

  • भारतीय वायुसेना ने अरुणाचल प्रदेश के चांगलांग जिले के विजयनगर नामक गाँव में एक पुनर्निर्मित हवाई पट्टी का उद्घाटन किया है।
  • विदित हो कि अरुणाचल प्रदेश का विजयनगर गाँव भारत के सुदूर पूर्व में स्थित आखिरी गाँव है।
  • विजयनगर स्थित हवाई पट्टी तकरीबन 4,000 फीट लंबी है और वर्तमान में केवल एएन-32 विमान के संचालन हेतु ही प्रयोग की जा सकती है।

*************

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow