Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर

1st September, 2020

(National Register of Citizens – NRC)

G.S. Paper-II (National)

संदर्भ:

असम के अद्यतन राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (National Register of Citizens – NRC) की अंतिम सूची पिछले वर्ष 31 अगस्त को प्रकाशित हुई थी। किंतु, उस तारीख से एक साल बाद भी, प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ सकी है।

  1. कुल 30 करोड़ में से 19 लाख आवेदक राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) की सूची से बाहर हो गए थे।
  2. इन लोगों को अभी तक उनके आवेदनों की अस्वीकरण पर्चियां (Rejection Slips) नहीं मिली है, इस कारणवश वे अभी तक अभी तक अपील दायर नहीं कर पाए हैं।

देरी के कारण:

वर्तमान COVID-19 संकट तथा राज्य में आई बाढ़।

अस्वीकरण पर्चियां क्या हैं?

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) की सूची से बाहर हो गए व्यक्तियों के लिए विदेशी अधिकरणों (Foreigners tribunals– FTs) में अपील दायर करने के लिए अस्वीकरण पर्चियां (Rejection Slips) की आवश्यकता होती है। विदेशी अधिकरण (FTs), वे अर्धन्यायिक संस्थाएं है जोसंदिग्ध विदेशीघोषित किये गए व्यक्तियों के भाग्य का फैसला करती है।

  1. इन पर्चियों में राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC) की सूची के तहत आवेदक का नाम सम्मिलित नहीं करने के कारणों का उल्लेख किया जाएगा।
  2. अस्वीकरण पर्चियांको राज्य एनआरसी कार्यालय द्वारा जारी किया जाता है।

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर’ क्या है?

राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (NRC)  वह सूची है जिसमें सभी भारतीय नागरिकों का विवरण शामिल है। इसे वर्ष 1951 की जनगणना के बाद तैयार किया गया था।

  1. सुप्रीम कोर्ट के आदेश के अनुसार, असम राज्य मेंराष्ट्रीय नागरिक रजिस्टरके अद्यतन करने की प्रक्रिया वर्ष 2013 में शुरू की गयी थी।
  2. बांग्लादेश तथा आसपास के अन्य क्षेत्रों से आए हुए अवैध प्रवासियों को बाहर निकालने के लिए, नागरिकता अधिनियम, 1955 तथा असम समझौते में तय किए गए नियमों के अनुसार, NRC को अद्यतन करने की प्रक्रिया शुरू की गयी है।

तुर्कीग्रीस गतिरोध

G.S. Paper-II (International)

चर्चा में क्यों?

हाल ही में खोजे गए गैस भंडार को लेकर ग्रीस और तुर्की के बीच बढ़ते तनाव के बीच फ्राँस ने पूर्वी भूमध्य सागर में अपनी सेना तैनात कर दी है। फ्राँस के अनुसार, भूमध्य सागर में स्थिति के स्वायत्त मूल्यांकन को सुदृढ़ करने और क्षेत्र में मुक्त गतिविधि, समुद्री नेवीगेशन की सुरक्षा और अंतर्राष्ट्रीय कानून के सम्मान के संदर्भ में फ्राँस की प्रतिबद्धता की पुष्टि करने के लिये सेना को तैनात किया गया है।

प्रमुख बिंदु

गतिरोध:

  • कारण: यूरोपीय संघ (EU), पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका में ग्रीस के सहयोगियों ने गैस परिवहन के लिये भूमध्य सागर से यूरोप की मुख्य भूमि तक गैस पाइपलाइन बनाने की योजना बनाई। इन्होंने तुर्की को इस योजना से बाहर रखा, जिसका तुर्की ने विरोध किया है।
  • इस योजना के निर्माण से EU की रूस पर निर्भरता कम हो जाएगी 
  • 2019 की शुरुआत में साइप्रस, मिस्र, ग्रीस, इटली, जॉर्डन और फिलिस्तीन ने ईस्टमीड गैस फोरम (EastMed Gas Forum) का गठन किया और एक बार फिर से तुर्की को इससे बाहर रखा
  • तुर्की की प्रतिक्रिया: तुर्की ने EU की पाइपलाइन योजना को चुनौती दी और एक विशेष आर्थिक ज़ोन (Exclusive Economic Zone-EEZ) के निर्माण हेतु लीबिया के साथ एक समझौता किया, यह EEZ तुर्की के दक्षिणी बिंदु से लेकर भूमध्य सागर के पार लीबिया के पश्चिमी बिंदु तक होगा।  
  • हालाँकि ग्रीस ने इसका विरोध करते हुए कहा है कि तुर्की का यह विशेष आर्थिक ज़ोन इसकी महासागरीय संप्रभुता का उल्लंघन करता है और इसके बाद ग्रीस ने मिस्र के साथ अपने EEZ के निर्माण की घोषणा कर दी जो तुर्की के EEZ के साथ गतिरोध उत्पन्न करता है।
  • ग्रीस के इस समझौते पर प्रतिक्रिया देते हुए तुक्री ने ग्रीसमिस्र समझौते में वर्णित कास्तेलोरिज़ो (Kastellorizo) द्वीप क्षेत्र के समीप अपना सर्वे जहाज़ तैनात कर दिया।
  • यहाँ गौर करने वाली बात यह है कि ऐसा पहली बार नहीं हो रहा है कि ग्रीस और तुर्की के मध्य विवाद जन्मा है। पिछले चार दशकों में दोनों देशों के मध्य कमसेकम तीन बार युद्ध की स्थिति भी बन चुकी है।

मुद्दे:

  • अतिव्यापी दावे: तुर्की और ग्रीस दोनों ही देश अधिकतर ग्रीक द्वीपों के साथ संलग्न महाद्वीपीय शेल्फ की सीमा के संबंध में व्याप्त परस्पर विरोधी विचारों के आधार पर क्षेत्र में हाइड्रोकार्बन संसाधनों पर किये जाने वाले अतिव्यापी दावों से असहमत हैं।
  • तुर्की का कहना है कि पूर्वी भूमध्य सागर में सबसे लंबी तटरेखा होने के बावजूद, यह ग्रीस के महाद्वीपीय शेल्फ के विस्तार के कारण पानी की एक संकीर्ण पट्टी में सीमित है, जो इसके तट के पास कई यूनानी/ग्रीक द्वीपों की उपस्थिति पर आधारित है।
  • कास्तेलोरिज़ो द्वीपजो कि तुर्की के दक्षिणी तट से 2 किमी और ग्रीस की  मुख्य भूमि से 570 किमी दूर स्थित है, तुर्की की हताशा का मुख्य कारण है।
  • कई देशों की भागीदारी: इस समय सबसे जटिल समस्या यूरोप, पश्चिम एशिया और उत्तरी अफ्रीका के इस मुद्दे में शामिल होने की संभावना है।
  • यूरोपीय संघ के सबसे शक्तिशाली सैन्य बल फ्राँस ने ग्रीस और साइप्रस को अपना समर्थन दिया है।
  • साइप्रस भौगोलिक रूप से दो भागों में विभाजित हैदक्षिणी भाग अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सरकार द्वारा शासित है और उत्तरी भाग, तुर्की द्वारा नियंत्रित है।
  • ग्रीस, साइप्रस, इटली और फ्राँस के बीच एक गठबंधन भी उभरकर सामने रहा है, जिसे मिस्र, इज़राइल और UAE का भी समर्थन प्राप्त है।
  • इन सबका परिणाम यह है कि इस क्षेत्र में तुर्की लगभग अलगथलग हो गया है, लेकिन यह अभी भी भूमध्य सागर में एक प्रमुख शक्ति बन हुआ है।

आगे की राह

  • यदि यूरोपीय संघ, साइप्रस और इटली के माध्यम से इज़राइल के तट से यूरोप के लिये गैस परिवहन करना चाहता है, तो तुर्की के साथ एक खुला संघर्ष बिलकुल भी मददगार साबित नहीं हो सकता हर किसी के हित में है कि तनाव को कम किया जाए और गैस संबंधी संघर्ष का एक रणनीतिक एवं पारस्परिक रूप से स्वीकार्य समाधान खोजने का प्रयास किया जाए।
  • तुर्की को अलगथलग करना, यह जानते हुए भी इसकी भूमध्य तटीय सीमा सबसे अधिक है, नासमझी होगी। तुर्की द्वारा इस क्षेत्र के छोटे देशों को धमकी देने के अवसर प्रदान करना रणनीतिक रूप से विनाशकारी ही होगा। ऐसे में यूरोपीय संघ को इन दोनों विकल्पों के बीच संतुलन बनाना होगा अन्यथा परिणाम सभी के लिये चिंताजनक होंगे।

राष्ट्रीय खेल पुरस्कार

G.S. Paper-II (Natioal)

चर्चा में क्यों?

भारत के राष्ट्रपति द्वारा ने 74 भारतीयों को राष्ट्रीय खेल पुरस्कारों से सम्मानित किया गया।

पुरस्कारों के बारे में:

इन पुरस्कारों को प्रतिवर्ष खेलों में उत्कृष्टता को पहचान देने और पुरस्कृत करने के लिए प्रदान किया जाता है:

  1. राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार, खिलाड़ी द्वारा चार वर्षों की अवधि में खेल के क्षेत्र में शानदार और उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है;
  2. अर्जुन पुरस्कार, चार वर्षों में निरंतर उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिया जाता है;
  3. द्रोणाचार्य पुरस्कारप्रतिष्ठित अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों में पदक विजेता के कोच को दिया जाता है;
  4. ध्यानचंद पुरस्कार, खेल विकास के लिए जीवन काल (लाइफ टाइम) योगदान के लिए है और
  5. राष्ट्रीय खेल प्रोत्साहन पुरस्कार कॉर्पोरेट संस्थाओं (निजी और सार्वजनिक क्षेत्र में) और व्यक्तियों को दिया जाता है जिन्होंने खेल को बढ़ावा देने और विकास के क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।
  6. अंतरविश्वविद्यालयीय टूर्नामेंट में कुल मिलाकर शीर्ष प्रदर्शन करने वाले विश्वविद्यालय को मौलाना अबुल कलाम आज़ाद ट्रॉफी दी जाती है।
  7. इन खेल पुरस्कारों के अलावातेनजिंग नोर्गे नेशनल एडवेंचर अवार्ड देकर देश के लोगों में रोमांच की भावना को पहचान दी जाती है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

डोकलाम तथा नाकु ला

चर्चा का कारण

चीन द्वारा दो वायु रक्षा स्थानों को विकसित किया जा रहा है, ये दोनों डिफेन्स पोजीशंस डोकलाम स्टैंडऑफ क्षेत्र, तथा सिक्किम में नाकू ला (Naku La) को कवर करेंगी।

प्रमुख तथ्य

नाकू ला सेक्टर सिक्किम राज्य में औसत समुद्र तल से (MSL) से 5,000 मीटर से अधिक की ऊंचाई पर स्थित एक दर्रा है। यह तीस्ता नदी के उद्गम स्रोत, मुग़ुथांग या चो लामू (Cho Lhamu) से आगे स्थित है।

डोकलाम (डोंगलोंग) एक पठार और घाटी युक्त क्षेत्र है जो भारत के पास भूटानचीन सीमा पर स्थित है। डोकलाम भूटान के हा घाटी, भारत के पूर्व सिक्किम जिला, और चीन के यदोंग काउंटी के बीच में है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow