Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

यूनिवर्सल बेसिक इनकम

G.S. Paper-III

संदर्भ:

हाल ही में, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा वर्ष 2021 में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए तृणमूल कांग्रेस पार्टी का घोषणापत्र जारी किया गया है।

घोषणापत्र में अन्य बातों के अलावा, प्रत्येक परिवार के लिए ‘सार्वभौमिक बुनियादी आय’ अर्थात यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI) देने का वादा किया गया है।

घोषणा के अनुसार:

  1. आय योजना के तहत, सामान्य श्रेणी के अंतर्गत आने वाले सभी 6 करोड़ परिवारों के लिए 500 रुपए प्रति माह तथा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के परिवारों को 1,000 रुपए प्रति माह प्रदान किये जाएँगे।
  2. यह राशि, परिवार की महिला मुखिया के नाम पर सीधे ट्रांसफर की जाएगी।

‘यूनिवर्सल बेसिक इनकम’ क्या है?

यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI), किसी देश अथवा किसी भौगोलिक क्षेत्र / राज्य के सभी नागरिकों को बिना शर्त आवधिक रूप से धनराशि प्रदान करने का कार्यक्रम है। इसके अंतर्गत नागरिकों की आय, सामजिक स्थिति, अथवा रोजगार-स्थिति पर विचार नहीं किया जाता है।

  1. ‘यूनिवर्सल बेसिक इनकम’ की अवधारणा के पीछे मुख्य विचार, गरीबी कम करना अथवा रोकना और नागरिकों में समानता की वृद्धि करना है।
  2. यूनिवर्सल बेसिक इनकम अवधारणा का मूल सिद्धांत है, कि सभी नागरिक, चाहे वे किसी परिस्थिति में पैदा हुए हों, एक जीने योग्य आय के हकदार होते हैं।

UBI के महत्वपूर्ण घटक-

  1. सार्वभौमिकता (सभी नागरिक)
  2. बिना शर्त (कोई पूर्व शर्त नहीं)
  3. आवधिक (नियमित अंतराल पर आवधिक भुगतान)
  4. नकद हस्तांतरण (कोई फ़ूड वाउचर या सर्विस कूपन नहीं)

यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI) के लाभ-

  1. नागरिकों के लिए सुरक्षित आय प्राप्त होती है।
  2. समाज में गरीबी तथा आय-असमानता में कमी आती है।
  3. निर्धन व्यक्तियों की क्रय शक्ति में वृद्धि होती है, जिससे अंततः सकल मांग बढ़ती है।
  4. लागू करने में आसान है क्योंकि इसमें लाभार्थी की पहचान करना शामिल नहीं होता है।
  5. सरकारी धन के अपव्यय में कमी होती है, इसका कार्यान्वयन बहुत सरल होता है।

UBI अवधारणा के समर्थक:

  1. भारतीय आर्थिक सर्वेक्षण 2016-17 में यूनिवर्सल बेसिक इनकम (UBI) की अवधारणा का समर्थन किया गया है, सर्वेक्षण में UBI को निर्धनता कम करने हेतु जारी विभिन्न सामाजिक कल्याण योजनाओं के विकल्प के रूप बताया गया।
  2. UBI कार्यक्रम के अन्य समर्थकों में अर्थशास्त्र नोबेल पुरस्कार विजेता पीटर डायमंड और क्रिस्टोफर पिसाराइड्स, प्रौद्योगिकी क्षेत्र के मार्क जुकरबर्ग और एलन मस्क (Elon Musk) सम्मिलित हैं।

भारत में ‘यूनिवर्सल बेसिक इनकम’ लागू करने में चुनौतियां:

  1. भारत में ‘यूनिवर्सल बेसिक इनकम’ को लागू करने में होने वाले भारी व्यय को देखते हुए राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी, इस कार्यक्रम के कार्यान्वयन हेतु प्रमुख चुनौती है।
  2. यूनिवर्सल बेसिक इनकम के लागू होने से इस बात की प्रबल संभावना है कि लोगों को बिना शर्त दी गई एक निश्चित आय उन्हें आलसी बना सकती है तथा इससे वे काम ना करने के आदी हो सकते हैं।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

अमेरिका भारत का दूसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता बना

  1. विगत माह संयुक्त राज्य अमेरिका, सऊदी अरब को पीछे छोड़कर भारत का दूसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता बन गया है.
  2. इसका कारण यह है कि तेल शोधकों (refiners) ने पेट्रोलियम निर्यातक देशों का संगठन प्लस (ओपेक+) से तेल आपूर्ति में कटौती की क्षतिपूर्ति के लिए अमेरिका से वहनीय कच्चे तेल की खरीद को अधिमान्यता प्रदान की है.
  3. भारत के शीर्ष 5 तेल आपूर्तिकर्ता हैं: इराक (प्रथम), अमेरिका, नाइजीरिया, सऊदी अरब तथा संयुक्त अरब अमीरात (UAE).
  4. भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा तेल आयातक और उपभोक्ता देशहै.

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow