Online Portal Download Mobile App हिंदी ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

मुफ्ती नूर वाली महसूद को वैश्विक आतंकवादी घोषित

21st July, 2020

G.S. Paper-II (International)

  • संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान (टीटीपी) के नेता मुफ्ती नूर वली महसूद को वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित किया है. संयुक्त राष्ट्र ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आतंकवाद के खिलाफ बड़ी कार्रवाई करते हुए यह कदम उठाया है.
  • संयुक्त राष्ट्र परिषद की 1267 आईएसआईएल और अलकायदा प्रतिबंध समिति ने 42 वर्षीय महसूद को 16 जुलाई 2020 को प्रतिबंध सूची में डाला. भारत ने हाल में संयुक्त राष्ट्र की बैठक में पाकिस्तान को घेरा था और आरोप लगाया था कि पाकिस्तान आतंकवादियों को पनाह दे रहा है.

वैश्विक आतंकी क्यों घोषित किया गया?

  • प्रतिबंध समिति ने कहा कि नूर वली महसूद को ‘अलकायदा से संबंधित समूहों का समर्थन करने, उनकी आतंकवादी गतिविधियों का वित्तपोषण करने, योजना बनाने और उन्हें अंजाम देने के कारण इस सूची में डाला गया है. नूर वली महसूद जून 2018 में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान के प्रमुख मौलाना फजलुल्लाह की मौत के बाद इस आतंकवादी संगठन का प्रमुख बना था. संयुक्त राष्ट्र ने इस संगठन को अलकायदा से संबंध रखने के लिए 29 जुलाई 2011 को काली सूची में डाला था.

मुफ्ती नूर वली महसूद के बारे में-

  • मुफ्ती नूर वली महसूद का अल कायदा से ताल्लुक है. वह अलकायदा के सहयोगी के रूप में पाकिस्तान में सक्रिय है.
  • महसूद आतंकवादी संगठनों के संयोजन, वित्तपोषण और उसकी आतंकी गतिविधियों की योजना में शामिल रहा है. महसूद संगठन को बनाने और उसको अंजाम देने में शामिल रहा है. उसका संगठन पाकिस्तान में सक्रिय है.
  • पाकिस्तान तालिबान को कई आत्मघाती बम विस्फोटों के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है, जिसके कारण सैकड़ों निर्दोष नागरिकों की हत्या हुई है.
  • यह संगठन कई आत्मघाती विस्फोटों को अंजाम देने के लिए जिम्मेदार है. इस पर सैकड़ों बेगुनाह नागरिकों की हत्‍या का आरोप है. टीटीपी पाकिस्तान में कई घातक आतंकवादी हमलों के लिए जिम्मेदार है.
  • टीटीपी के नेता नूर वली, जिसे मुफ्ती नूर वली महसूद के नाम से भी जाना जाता है. उसे जून, 2018 में पूर्व टीटीपी नेता मुल्ला फजलुल्लाह की मृत्यु के बाद टीटीपी का नेता नामित किया गया था.

पाकिस्तान को एक और झटका-

  • यह पाकिस्तान के लिए एक और झटका है, जिसे बार-बार विश्व समुदाय द्वारा आतंकवादी समूहों का समर्थन करने के लिए कहा जाता है. पिछले साल, संयुक्त राष्ट्र ने जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख, मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी के रूप में नामित किया था.

अमेरिका ने क्या कहा?

  • अमेरिकी ट्रंप प्रशासन ने संयुक्‍त राष्‍ट्र के इस कदम का स्वागत किया है. संयुक्त राज्य ने पिछले साल सितंबर में महसूद को आतंकवादी के रूप में नामित किया था. अमेरिकी विदेश विभाग के अनुसार नूर वली के नेतृत्व में, टीटीपी ने पाकिस्तान भर में कई घातक आतंकवादी हमलों की जिम्मेदारी ली है.

जी-20 वित्त मंत्रियों की बैठक

G.S. Paper-III (Economy)

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि जी-20 की कार्रवाई योजना कोविड-19 महामारी से निपटने की सामूहिक प्रतिबद्धता को दर्शाती है. यह संकट के बीच तार्किक और प्रभावी बनी रहनी चाहिए. जी-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक के गवर्नरों की तीसरी बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये हुई.

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सऊदी अरब की अध्यक्षता में हुई जी20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों (एफएमसीबीजी) की तीसरी बैठक में हिस्सा लिया. इस दौरान कोरोना (कोविड-19) महामारी संकट के बीच वैश्विक आर्थिक दृष्टिकोण के साथ ही साल 2020 के लिए अन्य जी-20 वित्तीय प्राथमिकताओं पर भी बात की गई.

जी-20 कार्ययोजना में स्वास्थ्य प्रतिक्रिया, आर्थिक कदम, मजबूत और सतत रिकवरी और अंतरराष्ट्रीय वित्तीय समन्वय के स्तंभों के तहत सामूहिक प्रतिबद्धताओं की एक सूची सामने रखी गई. इसका मकसद महामारी से लड़ने में जी-20 के प्रयासों में समन्वय स्थापित करना है.

संबंधित मुख्य बिंदु-

  • वित्त मंत्री सीतारमण ने बैठक को संबोधित करते हुए जी-20 से प्रौद्योगिकी के जरिये वित्तीय समावेशन की भारत की सफलता को साझा किया. उन्होंने बताया कि 42 करोड़ बैंक खातों में 10 अरब डॉलर के बराबर की धन राशि ‘बिना किसी भौतिक संपर्क में आए’ स्थानांतरित की गयी है.
  • वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा कि जी-20 कार्रवाई योजना कोविड-19 से निपटने की हमारी सामूहिक प्रतिबद्धता को दर्शाती है. संकट के बीच इसे तर्कसंगत और प्रभावी बनाए रखने की जरूरत है.
  • जी-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों ने अप्रैल में कोविड-19 महामारी से निपटने को अंतरराष्ट्रीय प्रतिक्रिया के लिए कार्रवाई योजना प्रकाशित की थी.
  • कार्रवाई योजना के तहत जी-20 के सदस्यों ने स्वास्थ्य सेवा, आर्थिक और वित्तीय उपाय करने की प्रतिबद्धता जताई है. इसके अतिरिक्त इसमें एक मजबूत और स्थिर वैश्विक अर्थव्यवस्था, जरूरतमंद देशों की मदद, मौजूदा संकट से सबक लेकर भविष्य की तैयारियों के प्रावधान को भी शामिल किया गया है.
  • रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकान्त दास ने कहा कि जी-20 के वित्त मंत्रियों और केंद्रीय बैंक गवर्नरों की बैठक में शामिल हुआ.

यह बैठक किस पर केंद्रित था?

  • यह बैठक वृहद अर्थव्यवस्था, पूंजी प्रवाह, सीमापार भुगतान, लिबोर से बदलाव और अन्य मुद्दों पर केंद्रित थी. मंत्रालय ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि वित्त मंत्री सीतारमण ने जी-20 की बैठक भारत द्वारा महामारी के दौरान लोगों को समर्थन के लिए किए गए नीतिगत उपायों की जानकारी दी.

295 अरब डॉलर का वृहद पैकेज

भारत ने 295 अरब डॉलर का वृहद पैकेज दिया है जो देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) का 10 फीसदी है. केंद्र सरकार ने कोरोना वायरस संकट से निपटने हेतु 20.97 लाख करोड़ रुपये के राहत पैकेज की घोषणा की थी. यह दुनिया में सबसे बड़े राहत पैकेज में से एक है. इस पैकेज का मुख्य उद्देश्य संकट में फंसे कारोबार क्षेत्र को उबारना और अर्थव्यवस्था के पुनरोद्धार की एक रूपरेखा तय करना है.

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

मोबाइल एप कूर्मा

Mobile app KURMA

23 मई, 2020 को विश्व कछुआ दिवस (World Turtle Day) पर कछुआ संरक्षण के लिये कूर्मा (KURMA) नामक एक मोबाइल-आधारित एप्लिकेशन लॉन्च किया गया था।

प्रमुख बिंदु:

  • इस एप को ‘टर्टल सर्वाइवल अलायंस-इंडिया’ (Turtle Survival Alliance-India) और ‘वाइल्डलाइफ कंज़र्वेशन सोसाइटी-इंडिया’ (Wildlife Conservation Society-India) के सहयोग से ‘इंडियन टर्टल कंज़र्वेशन एक्शन नेटवर्क(Indian Turtle Conservation Action Network- ITCAN) द्वारा विकसित किया गया है।
  • यह एप न केवल उपयोगकर्त्ताओं को देश भर में कछुओं की प्रजातियों की पहचान करने के लिये डेटाबेस प्रदान करता है बल्कि निकटतम संरक्षण केंद्र की अवस्थिति भी बताता है।
  • यह एक डिजिटल डेटाबेस के रूप में कार्य करता है जिसमें भारत के ताजे जल के कछुओं सहित कछुओं की 29 प्रजातियों को शामिल किया गया है।
  • इसमें कछुओं की पहचान, वितरण, स्थानीय नाम एवं खतरों के बारे में जानकारी दी गई है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow