English Version | View Blog +91 9415011892/93

डेली करेंट अफेयर्स 2019

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

मंथली ऑयल मार्केट रिपोर्ट – ओपेक

14th September 2019

समाचार में क्यों?

हाल ही में ओपेक (Organization of the Petroleum Exporting Countries- OPEC) द्वारा जारी की गई ‘मंथली ऑयल मार्केट रिपोर्ट’ (Monthly Oil Market Report) में कहा गया है कि आर्थिक वृद्धि की गति धीमी होने के बावजूद भी वर्ष 2019 और 2020 के दौरान विश्व के अन्य देशों की तुलना में भारत में कच्चे तेल की मांग अधिक तेजी से बढ़ेगी।

महत्वपूर्ण तथ्य:

  • भारत में कच्चे तेल की मांग में वर्ष 2018 की तुलना में वर्ष 2019 में 3.21% की वृद्धि हुई है। वर्ष 2020 में इस मांग में 3.36% की वृद्धि का अनुमान व्यक्त किया गया है।
  • उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019 में विश्व बाजार में तेल की मांग 1.02 मिलियन बैरल प्रतिदिन (Million Barrels Per Day- mb/d) बढ़ने की उम्मीद है जो पिछले अनुमान की तुलना में 0.08 mb/d कम है।
  • चीन में तेल की मांग में वर्ष 2019 में 2.73%तथा वर्ष 2020 में 2.37% की वृद्धि का अनुमान है।
  • वैश्विक बाजार में तेल का अधिशेष रहेगा।

तेल की मांग के संदर्भ में:

  • भारत के ऑटोमोबाइल क्षेत्र में आई वर्तमान गिरावट के बावजूद गैस की मांग में जून 2018 की तुलना में लगभग 11% की वृद्धि हुई।
  • उल्लेखनीय है कि ऑटोमोबाइल की बिक्री, पेट्रोलियम उत्पाद की खपत और घरेलू हवाई यातायात इत्यादि संकेतक भारत में तेल की घरेलू खपत में कमी का संकेत करते हैं।

मंथली ऑयल मार्केट रिपोर्ट:

  • ओपेक द्वारा जारी की जाने वाली ‘मंथली ऑयल मार्केट रिपोर्ट’ (Monthly Oil Market Report- MOMR) विश्व तेल बाजार को प्रभावित करने वाले प्रमुख मुद्दों को शामिल करती है और आने वाले वर्ष के लिये कच्चे तेल बाजार की विकासात्मक गतिविधियों हेतु एक दृष्टिकोण प्रदान करती है।
  • विश्व में तेल की मांग, आपूर्ति के साथ-साथ तेल बाजार संतुलन तथा तेल बाजार के रुझानों को प्रभावित करने वाले प्रमुख घटनाक्रमों का विस्तृत विश्लेषण करती है।
  • ओपेक (Organization of the Petroleum Exporting Countries-OPEC)
  • ओपेक 14 तेल निर्यातक विकासशील राष्ट्रों का एक स्थायी अंतर-सरकारी संगठन है जिसका गठन 10-14 सितंबर, 1960 को आयोजित बगदाद सम्मेलन में ईरान, इराक, कुवैत, सऊदी अरब और वेनेजुएला ने किया था।
  • यह संगठन अपने सदस्य देशों की पेट्रोलियम नीतियों का समन्वय और एकीकरण करता है।
  • OPEC के अस्तित्व में आने के बाद शुरुआती पाँच वर्षों तक इसका मुख्यालय जिनेवा, स्विट्जरलैंड में था। 1 सितंबर, 1965 को इसका मुख्यालय ऑस्ट्रिया के वियना में स्थानांतरित कर दिया गया।
  • वर्तमान में इसके कुल 14 देश सदस्य है- ईरान, इराक, कुवैत, इंडोनेशिया, लीबिया, संयुक्त अरब अमीरात, अल्जीरिया, नाइजीरिया, इक्वाडोर, गैबॉन, अलजीरिया अंगोला, इक्वेटोरियल गिनी, वेनेजुएला और कांगो

 


Topic:  For prelims and mains:

इंटरपोल के नोटिस :

महत्वपूर्ण तथ्य:

  • इंटरपोल (INTERPOL) ने कई अरब डॉलर के पंजाब नेशनल बैंक (PNB) घोटाले के सिलसिले में भगोड़े हीरा व्यापारी नीरव मोदी के भाई नेहाल के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस (RCN) जारी किया है।
  • INTERPOL नोटिस सहयोग या अलर्ट के लिये अंतरराष्ट्रीय अनुरोध हैं जो सदस्य देशों में पुलिस को अपराध से संबंधित महत्त्वपूर्ण जानकारी साझा करने की अनुमति देता है।
  • संयुक्त राष्ट्र (UN), अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायाधिकरणों (International Criminal Tribunals) और अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक न्यायालय ¼International Criminal Court½ द्वारा भी अपने अधिकार क्षेत्र के भीतर हुए अपराधों, विशेष रूप से नरसंहार, युद्ध अपराधों और मानवता विरोधी अपराधों के दोषियों की मांग के लिये इंटरपोल नोटिस का उपयोग किया जा सकता है।

इंटरपोल:

  • अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन (International Criminal Police Organization- INTERPOL) एक अंतर सरकारी संगठन है जो 194 सदस्य देशों के पुलिस बलों के बीच समन्वय स्थापित में मदद करता है
  • प्रत्येक सदस्य देश में इंटरपोल का नेशनल सेंट्रल ब्यूरो (NCB) होता है। यह उन देशों के राष्ट्रीय कानून प्रवर्तन को अन्य देशों और जनरल सचिवालय से जोड़ता
  • केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (Central Bureau of Investigation-CBI) को भारत के नेशनल सेंट्रल ब्यूरो (National Central Bureau) के रूप में नामित किया गया है।
  • सामान्य सचिवालय सदस्य देशों को कई प्रकार की विशेषज्ञता और सेवाएँ प्रदान करता है।
  • इसका मुख्यालय ल्यों, फ्राँस में है।

 

प्रीलिम्स के लिए तथ्य:

Time Bank :

  • कमलनाथ सरकार मध्यप्रदेश में अनूठा प्रयोग करने जा रही है। इसके अंतर्गत विदेशों की तर्ज पर राज्य में ‘टाइम बैंक’ बनाया जाएगा। जैसे बुरे समय के लिए बैंक में पैसा जमा किया जाता है, उसी तरह इसमें आम आदमी अपने बुरे समय के लिए ‘टाइम’ को रिजर्व रख पाएगा।
  • जिस प्रकार पैसों के लिए बैंक कार्य करता है, उसी प्रकार टाइम बैंकिंग हेतु सरकार बैंक भी तैयार करेगी. यह संभवतः देश में अपनी तरह का पहला प्रयोग होगा।

Imported Inflation :

  • जुलाई और अगस्त 2019 में भारतीय मुद्रा के कमजोर पड़ जाने से देश में आयातित मुद्रा स्फीति (imported inflation) होने की संभावना जताई जा रही है।
  • जब आयातित वस्तुओं के मूल्य में वृद्धि के कारण किसी देश में सामान्य मूल्य स्तर ऊँचा हो जाता है तो ऐसी मुद्रा स्फीति को आयातित मुद्रा स्फीति कहा जाता है।
  • भारत में मात्र कच्चे तेल और सोना इन दो वस्तुओं का आयात मूल्य बढ़ जाने से हमारे आयात का खर्च ऊपर की ओर भाग जाता है।

 

 

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow