Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

भारत को किस प्रकार की कृषि-खाद्य नीति की आवश्यकता है?

G.S. Paper-III

इंडियन काउंसिल फॉर रिसर्च ऑन इंटरनेशनल इकोनॉमिक रिलेशंस (Indian Council for Research on International Economic Relations-ICRIER) में कृषि संबंधी इन्फोसिस पीठ के अध्यक्ष प्रोफेसर अशोक गलाती के अनुसार:

  1. भारत को अपनी विशाल आबादी के लिए पर्याप्त भोजनचारा और फाइबर (Food, Feed and Fibre) का उत्पादन करने में सक्षम होना चाहिए।

इसके लिए, कृषि संबंधी अनुसंधान एवं विकास तथा प्रयोगशालाओं से खेतों तक इसकी शाखाओं और सिंचाई सुविधाओं में निवेश करना सबसे उपयुक्त कदम होगा।

ऐसा माना जाता है कि विकासशील देशों के लिए अपने कृषि-सकल घरेलू उत्पाद (agri-GDP) का न्यूनतम एक प्रतिशत कृषि- अनुसंधान एवं विकास (agri-R&D) तथा इसकी शाखाओं में निवेश करना चाहिए। भारत में इसका लगभग आधा निवेश किया जाता है।

  1. यह निवेशइस प्रकार से किया जाना चाहिए कि यह पर्यावरण, मृदापानीवायु और जैव विविधता के संरक्षण के साथसाथ वैश्विक प्रतिस्पर्धायुक्त उच्च उत्पादन प्राप्त करने में सक्षम बने।

इसके लिए, अत्यधिक रियायती लागत नीति (बिजली, पानी, उर्वरक) और धान, गेहूं और गन्ने के लिए MSP/FRP नीति के बदले जल-संरक्षण, मृदा और वायु-गुणवत्ता से जुडी अधिक आय प्रदान करने वाली समर्थन नीतियों को लागू किया जाना चाहिए।

  1. भारत को, विपणन लागत कम रखते हुए, आपूर्ति श्रृंखलाओं में खाद्य पदार्थो की क्षति को कम करते हुए और खेत से चम्मच तक खाने की निर्बाध आपूर्ति करने तथा उपभोक्ताओं को सुरक्षित और ताजा भोजन प्रदान करने में सक्षम होना चाहिए।
  2. उपभोक्ताओं को सस्ती कीमतों पर सुरक्षित और पौष्टिक भोजन मिलना चाहिए

सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से खाद्य सामग्री का सार्वजनिक वितरण, जिसमे मुख्यतः चावल और गेहूं का वितरण किया जाता है, और इसके लिए खरीद, भंडारण और वितरण हेतु 90 प्रतिशत से अधिक सब्सिडी भी प्रदान की जाती है, फिर भी यह बहुत प्रभावी नहीं हो पा रहा है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

मकरविलाक्कू त्योहार

मकरविलाक्कू, केरल में मकर संक्रांति के अवसर पर मनाया जाना वाला पर एक वार्षिक उत्सव है।

  1. इसे सबरीमाला मंदिर में आयोजित किया जाता है।
  2. इस उत्सव में थिरुवभरणम (अय्यप्पन के पवित्र आभूषण) जुलूस और सबरीमाला के पहाड़ी मंदिर में एक धार्मिक सभा आयोजित की जाती है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow