Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

बिम्सटेक

G.S. Paper-II

संदर्भ:

हाल ही में, श्रीलंका की अध्यक्षता में, 17 वीं बिम्सटेक (बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिये बंगाल की खाड़ी पहल) मंत्रिस्तरीय बैठक आयोजित की गई थी।

इस बैठक में म्यांमार सहित सभी सात सदस्य देशों ने भाग लिया। ज्ञातव्य है, कि म्यांमार, वर्तमान में सेना विरोधी प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बड़े पैमाने पर कार्रवाई कर रहा है।

बिम्सटेक (BIMSTEC) क्या है?

बिम्सटेक का पूरा नाम ‘बहुक्षेत्रीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग के लिये बंगाल की खाड़ी पहल’ अर्थात (Bay of Bengal Initiative for Multi-Sectoral Technical and Economic Cooperation- BIMSTEC) है।

  1. बिम्सटेक, दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के सात देशों का एक अंतरराष्ट्रीय संगठन है। वर्ष 1997 में, बंगाल की खाड़ी क्षेत्र को एकीकृत करने के प्रयास में इस समूह की स्थापना की गई थी।
  2. मूल रूप से इस समूह में बांग्लादेश, भारत, श्रीलंका और थाईलैंडशामिल थे, बाद में म्यांमार, नेपाल और भूटान भी इसके सदस्य बन गए।
  3. बिम्सटेक, में अब दक्षिण एशिया के पांच देश और आसियान के दो देश शामिल हैं तथा यह दक्षिण एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया के मध्य एक सेतु की भूमिका भी निभाता है।
  4. इस समूह में मालदीव, अफगानिस्तान और पाकिस्तान को छोड़कर दक्षिण एशिया के सभी प्रमुख देश शामिल हैं।

बिम्सटेक क्षेत्र का महत्व:

  1. बिम्सटेक के सात देशों और इसके आसपास में विश्व की कुल आबादी का लगभग पांचवा भाग (22%) निवास करता है, और इनका संयुक्त रूप से सकल घरेलू उत्पाद $ 2.7 ट्रिलियन के करीब है।
  2. बंगाल की खाड़ी, प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है, जिसका अभी तक दोहन नहीं किया गया है। विश्व में व्यापार की जाने वाली कुल सामग्री का लगभग एक-चौथाई भाग, प्रतिवर्ष बंगाल की खाड़ी से होकर गुजरता है।

भारत के लिए बिम्सटेक का महत्व:

  1. इस क्षेत्र की सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में भारत के लिए यह क्षेत्र काफी महत्वपूर्ण है।
  2. बिम्सटेक, न केवल दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के लोगों को जोड़ता है, बल्कि महान हिमालय और बंगाल की खाड़ी की पारिस्थितिकी को परस्पर संबद्ध करता है।
  3. भारत के लिए, यह ‘नेबरहुड फर्स्ट’ और ‘एक्ट ईस्ट’ की प्रमुख विदेश नीति प्राथमिकताओं को कार्यान्वित करने के लिए एक प्राकृतिक मंच है।
  4. नई दिल्ली के लिए, बिम्सटेक से सम्बद्धता का एक प्रमुख कारण इस क्षेत्र की विशाल संभावनाएं हैं, जो दक्षिण और दक्षिण पूर्व एशिया के देशों के साथ महत्वपूर्ण संपर्क मार्ग खोलती हैं।
  5. लगभग 300 मिलियन लोग या भारत की लगभग एक-चौथाई आबादी, बंगाल की खाड़ी से सटे चार तटीय राज्यों (आंध्र प्रदेश, उड़ीसा, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल) में निवास करती है।
  6. रणनीतिक दृष्टिकोण से, बंगाल की खाड़ी, जोकि मलक्का जलडमरूमध्य के लिए एक कीप (funnel) की भांति है, लगातार प्रभावशाली होते जा रहे चीन के लिए हिंद महासागर तक अपनी पहुँच बनाए रखने के लिए, एक प्रमुख थिएटर के रूप में उभरा है।
  7. चूंकि चीन द्वारा हिंद महासागर में पनडुब्बियों तथा जहाजों की आवाजाही में बढ़ोत्तरी सहित बंगाल की खाड़ी क्षेत्र में प्रभुत्व जमाने वाली गतिविधियाँ की जा रही हैं, ऐसे में बिम्सटेक देशों के साथ अपने संबंधों को मजबूत करना भारत के हित में होगा।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

सैन्य अभ्यास शांतिर ओग्रोशेना 2021

(Exercise SHANTIR OGROSHENA 2021)

  1. यह बांग्लादेश में आयोजित होने वाला बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास है।
  2. इस वर्ष भारतीय सेना भी इस सैन्य अभ्यास में भाग लेगी।
  3. यह सैन्य अभ्यास, बांग्लादेश में वहां के ‘राष्ट्रपिता’ बंगबंधु शेख मुजीबुर्रहमान की जन्म शताब्दी के उपलक्ष्य में आयोजित किया जाएगा और यह बांग्लादेश की आज़ादी के शानदार 50 वर्ष पूरे होने का प्रतीक होगा।
  4. पूरे अभ्यास के दौरान अमेरिका, ब्रिटेन, तुर्की, सऊदी अरब, कुवैत और सिंगापुर के सैन्य पर्यवेक्षक भी उपस्थित रहेंगे।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow