Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना

G.S. Paper-II 

संदर्भ:

वित्तीय वर्ष 2020 तक, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंर्तगत पात्र लाभार्थी महिलाओं की संख्या 1.75 करोड़ से अधिक हो चुकी है।

‘प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना’ के बारे में:

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (PMMVY) केंद्र सरकार की एक मातृत्व लाभ योजना है। इस योजना को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम, 2013 के प्रावधानों के अनुसार देश के सभी जिलों में लागू किया गया है।

  1. इस योजना के तहत, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को, कुछ शर्तों को पूरा करने के बाद, तीन किश्तों में पहले बच्चे के जन्म पर 5,000 रूपये की राशि प्रदान की जाती है।
  2. योजना के तहत, प्रत्यक्ष लाभ नकद हस्तांतरण का उद्देश्य गर्भवती माताओं के लिए बढ़ी हुई पोषण संबंधी आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करना और साथ ही साथ काम-काजी महिलाओं के लिए गर्भावस्था के दौरान और प्रसव के बाद होने वाली मजदूरी के नुकसान की आंशिक भरपाई करना है।
  3. इस योजना की घोषणा 31 दिसंबर, 2016 को की गई थी।

पात्र लाभार्थियों को संस्थागत प्रसव के लिए जननी सुरक्षा योजना (JSY) के तहत प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। जननी सुरक्षा योजना राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन (NHM) के तहत एक सुरक्षित मातृत्व कार्यक्रम है। इसका उद्देश्य गरीब गर्भवती महिलाओं के संस्थागत एवं सुरक्षित प्रसव को बढ़ावा देना है। केंद्र सरकार इसके लिए औसतन प्रत्येक गर्भवती महिला के लिए 6000 रुपए प्रदान किया जाते हैं।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

‘कपिला’

  1. हाल ही में, भारत सरकार ने बौद्धिक संपदा साक्षरता और जागरूकता अभियान ‘कपिला‘ (Kalam Program for Intellectual Property Literacy and Awareness Campaign– KAPILA) नामक एक अभियान शुरू किया है।
  2. इस योजना के उद्देश्य: उच्च शिक्षा संस्थानों (HEI) में बौद्धिक संपदा अधिकारों (IPR) के बारे में जागरूकता पैदा करना, HEI के संकाय और छात्रों के आविष्कारों के लिए बौद्धिक संपदा अधिकार सुरक्षित करना, बौद्धिक संपदा अधिकार (IPR) पर पाठ्यक्रम का विकास, प्रशिक्षण कार्यक्रम आदि हैं।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow