Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC)

G.S. Paper-III

संदर्भ:

हाल ही में, दिल्ली मेट्रो की एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (National Common Mobility Card– NCMC) का विस्तार किया गया है। इस कार्ड की शुरुआत पिछले वर्ष अहमदाबाद में की गयी थी।

प्रमुख विशेषताऐं:

  1. ‘वन नेशन वन कार्ड’ की तर्ज पर इसअंतःप्रचालनीय परिवहन कार्ड (Inter-Operable Transport Card– IOTC) के द्वारा कार्ड-धारक अपनी बस यात्रा, टोल टैक्स, पार्किंग शुल्क का भगतान, खुदरा खरीदारी और यहां तक ​​कि पैसे भी निकाल सकते हैं।
  2. इस विचार को सबसे पहलेभारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा गठित नंदन नीलेकणी समिति द्वारा प्रस्तुत किया गया था।

कार्यविधि:

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC) एक स्वचालित किराया संग्रह प्रणाली है। यह सिस्टम स्मार्टफ़ोन को अंतःप्रचालनीय परिवहन कार्ड/ इंटर ऑपरेटिव ट्रांसपोर्ट कार्ड (IOTC) में परिवर्तित कर देगा जिसे यात्री, मेट्रो, बस और उपनगरीय रेलवे सेवाओं के के लिए भुगतान करने में उपयोग कर सकते हैं।

  1. यह कार्ड रुपे (RuPay) कार्ड पर कार्य करता है।
  2. कार्ड में संग्रहीत राशि से यात्रा की सभी जरूरतों के लिए ऑफ़लाइन लेनदेन किया जा सकता है, और इसमें सभी हितधारकों के लिए वित्तीय जोखिम न्यूनतम होता है।
  3. नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC) कोआवास और शहरी मामलों के मंत्रालय द्वारा देश भर में खुदरा खरीदारी के अलावा विभिन्न महानगरों में अन्य परिवहन प्रणालियों द्वारा निर्बाध यात्रा करने के लिए लागू किया गया है।

NCMC की आवश्यकता और महत्व:

  1. पूरे भारत में समाज के सभी वर्गों द्वारा व्यापक रूप से ‘सार्वजनिक परिवहन’ किफायती और सुविधाजनक तरीके के रूप में उपयोग किया जाता है।सार्वजनिक परिवहन प्रणाली में किराया भुगतान के लिए अभी तक नगदी का प्रयोग प्रचलित है।
  2. हालाँकि, नगद-भुगतान से, नगदी को सँभालने, राजस्व के कम होने, नगदी का मिलान करने जैसी कई चुनौतियाँ जुड़ी होती हैं।
  3. परिवहन-परिचालकों द्वारास्वचालित किराया संग्रह प्रणाली (Automatic Fare Collection System–AFC) में माध्यम से किराया संग्रह को आटोमेटिक और डिजिटल करने के लिए कई पहल शुरू की गई हैं।
  4. इन ऑपरेटरों द्वारा जारी किए गए क्लोज्ड लूप कार्ड की शुरूआत ने किराया संग्रह को काफी हद तक डिजिटल करने में मदद की है। हालांकि, इन भुगतान उपकरणों की सीमित प्रयोज्यता ग्राहकों के लिए डिजिटल तरीके अपनाने के लिए भी सीमित करती है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

100वीं किसान रेल

  1. हाल ही में, महाराष्ट्र के संगोला से पश्चिम बंगाल के शालीमार के बीच100वीं किसान रेल की शुरुआत की गयी।
  2. ‘किसान रेल’ सेवा पहल, छोटे और सीमांत किसानों को अपनी उपज को दूर के बाजारों में आपूर्ति करने में मदद करेगी। देश के कुल किसानो में 80 प्रतिशत से अधिक छोटे और सीमांत किसान हैं। इस पहल से किसानों की आय बढ़ाने में भी मदद मिलेगी।
  3. पिछले 4 महीनों में 100 किसान रेलों की शुरुआत की गयी है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow