Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

खाड़ी देशों के नेताओं में समझौता

G.S. Paper-II

संदर्भ:

हाल ही में, सऊदी अरब और कतर के नेताओं द्वारा सार्वजनिक रूप से गले मिलने के बाद खाड़ी देशों के नेताओं द्वारा एकजुटता एवं स्थायित्व’ (Solidarity and Stability) समझौते पर हस्ताक्षर किए गए। इसके साथ ही तीन साल की लंबी अनबन के बाद ‘दोहा’ को वापस क्षेत्रीय समूह में शामिल कर लिया गया है।

विवाद क्या था?

सऊदी अरब के नेतृत्व में खाड़ी देशों के समूह ने जून 2017 में ‘कतर’ से राजनयिक, कारोबारी एवं परिवहन संबंधों पर रोक लगा दी थी। इन देशों ने कतर पर ईरान के नजदीक होने तथा कट्टरपंथी इस्लामिक समूहों के समर्थन का आरोप लगाया था। कतर ने आरोपों को खारिज करते हुए इन प्रतिबंधों को अपनी संप्रभुता पर हमला बताया था।

इस क्षेत्र में शांति महत्वपूर्ण क्यों है?

  1. मध्य-पूर्व (Middle East) में किसी भी प्रकार की अस्थिरता से तेल की कीमतों में वृद्धि होने की संभावना रहती है, और दीर्घकालीन अस्थिरता की स्थिति में तेल की उच्च कीमतें बरकरार रहती हैं।
  2. कतर, विश्व में तरल प्राकृतिक गैस (LNG) का सबसे बड़ा आपूर्तिकर्ता है तथा मिस्र और संयुक्त अरब अमीरात (UAE) प्रमुख प्राप्तकर्ता हैं।
  3. भारत, अपनी 90% प्राकृतिक गैस आवश्यकताओं के लिए कतर पर निर्भर है।
  4. कतर का सॉवरिन वेल्थ फंड और राज्य के स्वामित्व वाली अन्य संस्थाएं, साथ ही कतर के निजी निवेशक, भारत में अवसरंचना क्षेत्र में निवेश करने का विकल्प देख रहे हैं।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

सागरमाला सीप्लेन सेवा

इस सेवा को पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालयद्वारा शुरू किया जा रहा है।

  1. सागरमाला सीप्लेन सेवा को कुछ चुनिंदा मार्गों पर विशेष उद्देश्य वाले वाहन (Special Purpose Vehicle – SPV) संरचना के तहत संभावित एअर लाइन परिचालकों के जरिए सीप्लेन सेवा शुरू किया जाएगा।
  2. इस परियोजना को, मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण वाली सागरमाला विकास कंपनी लिमिटेड (SDCL) के माध्यम से लागू किया जाएगा। यह कंपनी मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow