Online Portal Download Mobile App हिंदी ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

ऑक्सीटोसिन

समाचार में क्यों \      सर्वोच्च न्यायालय ने पिछले दिनों कहा कि निजी दवा कम्पनियों को ऑक्सीटोसिन नामक उपयोगी गर्भ औषधि को बनाने और बेचने से रोकने के विषय में निर्णय लेने के पहले और अधिक चिंतनमनन की आवश्यकता होगीA

इस निर्देश को देखते हुए सरकार ने इस सम्बन्ध में अंतिम निर्णय लेने की प्रक्रिया रोक दी है।

मामला क्या है \

  • केंद्र सरकार ने अप्रैल 27] 2018 को एक अधिसूचना निकालकर ऑक्सीटोसिन को प्रतिबंधित कर किया था और उत्पादन के लिए मात्र एक सरकारी कम्पनी कर्नाटक एंटीबायोटिक्स एंड फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड को अनुमति दी थीA दिल्ली उच्च न्यायालय ने बाद में केंद्र सरकार के उस निर्णय को निरस्त कर दिया जिसके द्वारा निजी प्रतिष्ठानों द्वारा ऑक्सीटोसिन बनाने और बेचने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। विदित हो कि इस दवा का प्रयोग प्रसव पीड़ा लाने और रक्त प्रवाह को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है।
  • न्यायालय का कहना है कि सरकार का निर्णय निरंकुश एवं अतार्किक है क्योंकि इसका प्रयोग मात्र पशुओं का दूध बढ़ाने के लिए ही नहीं होता हैA इसके अन्य उपयोग भी हैं। दिल्ली उच्च न्यायालय के इस निर्णय के विरुद्ध केंद्र सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय में अपील दायर कर रखी है।

ऑक्सीटोसिन के निर्माण को केएपीएल तक सीमित रखना अनुचित क्यों\

  • स्वयं केएपीएल ने कहा है कि वह ऑक्सीटोसिन का उतनी मात्रा उत्पादन नहीं कर सकता है जितना कि इसकी आवश्यकता है। उसका कहना है कि पर्याप्त मात्रा में इस औषधि के उत्पादन में उसे तीन-चार वर्ष लग जाएँगेA इसलिए यदि इसके उत्पादन का भार केवल उसी पर दे दिया जाएगा तो अनेक गर्भवती महिलाओं के जीवन पर खतरा आ जाएगा।

ऑक्सीटोसिन ¼OXYTOCIN½ क्या है\

  • ऑक्सीटोसिन ¼OXYTOCIN½ एक हार्मोन ¼hormone) है जिसका मनुष्य तथा पशु के व्यवहार पर प्रभाव पड़ता है। इस हार्मोन की प्रेम में भी भूमिका होती हैA साथ ही स्त्रियों के प्रजनन से सम्बंधित जैविक कार्यों पर भी इसका प्रभाव पड़ता है। इसलिए इस हार्मोन को आलिंगन हार्मोन (hug hormone½] आलिंगन रसायन ¼cuddle chemical½] नैतिक अणु ¼moral molecule½] आनंद हार्मोन ¼bliss hormone½ भी कहा जाता है।
  • ऑक्सीटोसिन मस्तिष्क की हाइपोथेलेमस में बनने वाला एक हार्मोन होता हैA यह हार्मोन मस्तिष्क के नीचले हिस्से में स्थित पीयूष ग्रन्थि ¼pituitary gland½ में पहुँचकर फिर वहाँ से निस्सृत होता है।
  • ऑक्सीटोसिन हार्मोन के साथ-साथ एक मस्तिष्क स्नायु-सम्प्रेषक ¼neurotransmitter½ के रूप में भी काम करता है।
  • पीयूष ग्रन्थि से निस्सृत ऑक्सीटोसिन स्त्री प्रजनन से जुड़े दो कार्यों को नियंत्रित करता है – प्रसूति, स्तनपान।

ऑक्सीटोसिन ¼OXYTOCIN½ का प्रयोग%

  • ऑक्सीटोसिन औषधि मानवीय हार्मोन का एक कृत्रिम रूप है जो महिलाओं के लिए जीवन-रक्षक होता हैA चिकित्सक इसका प्रयोग गर्भवती महिलाओं में प्रसूति को सरल बनाने के लिए तथा बाद में होने वाले रक्तस्राव को रोकने के लिए करते हैंA मातृ-स्वास्थ्य में इस औषधि की भूमिका इतनी महत्त्वपूर्ण है लो विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) प्रसवोपरान्त रक्त स्राव के उपचार के लिए इसकी अनुशंसा करता है।

प्रतिबंध ¼BAN½ क्यों \

  • गो पालन में इस औषधि का बहुत दुरूपयोग होता आया हैA गोपालक इसे बिना सोचे-समझे दूध बढ़ाने के लिए इस औषधि का प्रयोग करते हैं।
  • दुधारू पशुओं में इस हार्मोन के प्रयोग के चलते बाँझपन आ जाता है।
  • ऑक्सीटोसिन से थनैला ¼mastitis) नामक रोग हो जाता है जिसमें पशु के थन में पीड़ादायक जलन हो जाती है।

क्या किया जाना चाहिए \

  • यह सत्य है कि ऑक्सीटोसिन के बहुत सारे दुष्प्रभाव हैं परन्तु भारतीय महिलाओं के लिए यह बड़े काम की चीज है क्योंकि प्रत्येक वर्ष 45]000 स्त्रियाँ प्रसव से जुड़े कारणों से मृत्यु को प्राप्त हो जाती हैं। अतः सरकार द्वारा लागू होने वाले प्रतिबंध को हटाने अथवा सीमित करने के लिए कई स्रोतों से आवाज उठ रही है।

ऑक्सीटोसिन का विकल्प %

  • विश्व स्वास्थ्य संगठन ने विवादित ऑक्सीटोसिन दवा का एक सुरक्षित एवं कारगर विकल्प प्रस्तुत किया है। इस दवा का नाम कार्बेटोसिन Carbetocin हैA इसकी विशेषता है कि इसे रेफ्रीजरेटर में रखने की आवश्कयता नहीं है जबकि ऑक्सीटोसिन को 2-8 डिग्री सेल्सियस तापमान में रखना पड़ता है, अन्यथा इसकी शक्ति कम हो जाती है। दूसरी ओर] यदि 30 डिग्री सेल्सियस पर तथा 75% सापेक्षिक आर्द्रता के अंदर रखा जाए तब भी यह तीन वर्षों तक कारगर रह जाता है।

************

प्रीलिम्स के लिए तथ्य:

  • Baltic Nations :
  • पिछले दिनों भारत के उपराष्ट्रपति ने तीन बाल्टिक देशों की यात्रा पूरी की।
  • यूरोप में स्थित लिथुएनिया, लेतविया और एस्टोनिया को बाल्टिक देश कहा जाता है क्योंकि ये तीनों बाल्टिक सागर के किनारेकिनारे अवस्थित हैं।
  • ये देश यूरोपीय संघ, नाटो, यूरो जोन और OECD के सदस्य हैं।
  • इन देशों की अर्थव्यवस्था ऊँची आय वाली है और इनका स्थान मानव विकास सूचकांक के हिसाब से बहुत ऊँचा है।

 

 

पीकॉक पैराशूट स्पाइडरः

  • तमिलनाडु के विल्लुपुरम जिले के पक्कामलाई रिजर्व फॉरेस्ट में Poecilotheria कुल से संबंधित पीकॉक पैराशूट स्पाइडर ¼Peacock Parachute Spider½ या गूटी टारनटुलावस ¼Gooty Tarantulawas½ के रूप में पहचानी जाने वाली मकड़ी पाई गई।

महत्वपूर्ण तथ्यः

  • इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर ¼IUCN½ ने इसे गंभीर रूप से संकटग्रस्त के रूप में वर्गीकृत किया है।
  • यह भारत की स्थानिक प्रजाति है।
  • इस प्रजाति का ज्ञात निवास स्थान पूर्वी घाटों में है, विशेष रूप से आंध्र प्रदेश में नंद्याल के पास पवित्र वनों में।
  • पैरों के नीचे के हिस्से पर बैंडिंग पैटर्न के आधार पर इस जीन की प्रजातियों की पहचान की जा सकती है।
  • टारनटुला जैविक कीट नियंत्रक हैं और पालतू व्यापार में संग्रहकों के बीच इनकी भारी मांग रहती है। अतः इनकी सुरक्षा के संबंध में जल्द से जल्द उपाय किये जाने की आवश्यकता है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow