Online Portal Download Mobile App English ACE +91 9415011892 / 9415011893

डेली करेंट अफेयर्स 2020

विषय: प्रीलिम्स और मेन्स के लिए

इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC)

G.S. Paper-II

संदर्भ:

भारत ने इस्लामिक सहयोग संगठन (Organisation of Islamic Conference-OIC) की कड़ी आलोचना करते हुए, इसके 47 वें काउंसिल ऑफ फॉरेन मिनिस्टर्स (Council of Foreign Ministers– CFM) सम्मलेन में जम्मू-कश्मीर के संदर्भ में पारित किये गए अनुचित प्रस्तावों को खारिज कर दिया।

भारत ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश सहित भारत के नितांत आंतरिक मामलों में दखल देने ले लिए इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) की कोई अधिस्थिति (locus standi) नहीं है।

इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC)  के बारे में:

  1. OIC, वर्ष1969 में स्थापित एक अंतर्राष्ट्रीय संगठन है, वर्तमान में इसमें 57 सदस्य देश सम्मिलित हैं।
  2. यहसंयुक्त राष्ट्र संघ के पश्चात दूसरा सबसे बड़ा अंतरसरकारी संगठन है।
  3. इस संगठन का कहना है कि यहमुस्लिम विश्व की सामूहिक आवाज” है।
  4. इसका उद्देश्य अंतर्राष्ट्रीय शांति और सद्भाव को बढ़ावा देना और साथ ही दुनिया के मुस्लिम समुदायों के हितों की रक्षा और संरक्षण हेतु कार्य करना है।
  5. संयुक्त राष्ट्र संघ और यूरोपीय संघ में OIC के स्थायी प्रतिनिधिमंडल हैं।
  6. इसकास्थायी सचिवालय सऊदी अरब के जेद्दा में है।

भारत के लिए OIC का महत्व:

हाल के दिनों में भारत और OIC के मध्य आर्थिक और ऊर्जा संबंधी परस्पर निर्भरता में वृद्धि विशेष रूप महत्वपूर्ण हो गई है।

प्री के लिए महत्वपूर्ण तथ्य

माउंट इली लेवोटोलोक

चर्चा का कारण

हाल ही में ज्वालामुखी विस्फोट हुआ है।

  1. अवस्थिति:यह पूर्वी इंडोनेशिया में स्थित एक ज्वालामुखी है।
  2. 5,423 मीटर (17,790 फुट) उंचाई वाला यह पर्वत, इंडोनेशिया मेंजावा द्वीप पर मेरापी (Merapi) और सुमात्रा द्वीप पर सिनाबंग (Sinabung) ज्वालामुखी सहित वर्तमान में तीन प्रस्फुटित ज्वालामुखियों में से एक है।

 

नवीनतम समाचार

get in touch with the best IAS Coaching in Lucknow